UPSC Success  Story:  vishal kumar  के सिर पिता का साया  उठ गया फिर भी सफलता हासिल  कर ली 👉

विशाल कुमार की  कहानी कुछ यूँ है की  विशाल बहुत ही गरीब परिवार से बिहार मुजफ्फरपुर के मक़सूदुर गांव  के रहने वाले है 👉

इनका अपना घर  दैनिक मजदूरी से चलता  था विशाल के पिता बिकाऊ प्रसाद जो की एक मजदुर थे और विशाल की माँ घर गृहणी का काम करती और विशाल उन दिनों स्कूल की पढ़ाई  करता था.👉

वर्ष 2008 में  विशाल के पिता का देहांत हो गया, उस समय विशाल 7th में पढ़ रहा था अब घर के खर्चो की जिम्मेदारी माँ  के सर आ गई. 👉

माँ ने घर से ही बकरी  और भैस का दूध बेच कर घर की व विशाल की पढ़ाई की आवश्यकताओ की पूर्ति की, ऐसे ही समय बीतता गया  और.... 👉

 वर्ष 2013  में विशाल  ने 12th पास कर ली और IIT Kanpur से  वर्ष 2017 में ग्रेजुएशन भी कम्प्लीट कर दिया ... 👉

अब विशाल ने घर की आर्थिक स्थिति में सहारा बनने की सोची और एक प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करना शुरू कर दिया... 👉

इसी बीच एक  साल भर के बाद, एक शिक्षक गौरिशंका देवदूत बनकर आए, और... 👉

विशाल को सहारा  दिया और हिम्मत बंधाई तथा upsc के एग्जाम की तैयारी करने का सुझाव दिया और विशाल की हालत को देखते... 👉

हुए एक कोशिंग  सेंट्रर में उनका दाखीला दिला दिया और कोशिंग फीश भी दी और विशाल के घर जाकर भी  उनको पढ़ते रहे... 👉

ऐसे चलता रहा  और आखिर कर विशाल का  upsc का एग्जाम भी हो गया, वर्ष 2021 upsc रिजल्ट आया और... 👉 उसमे विशाल ने 484वीं रैंक हासिल की, विशाल ने इस सफलता का श्रेय शिक्षक गौरिशंका और  अपनी माँ को  दिया।... 👉

बायोग्राफी आर्टिकल  पढ़ने के लिए नीचे दिए गए  बटन पर किल्क करे