success story - बिना कोचिंग अपनी DSP की ड्यूटी के साथ पढाई करके पहले ही प्रयास में IPS बनी, IPS Simala Prasad

संघ लोक सेवा आयोग UPSC एग्जाम में  सफल होने वाले उम्मीदवारों की कहानी अन्य UPSC एग्जाम की तैयारी करने वालो के लिए....

 प्रेरणा स्त्रोत बन जाती है. और उन्हें इस एग्जाम में असफलता हासिल होने पर भी निराश न होकर सफल होने के लिए प्रयासरत रहते है....

 UPSC एग्जाम में सफल उम्मीदवारों के पीछे की वजह उनकी मेहनत, लगन व सपनों को साकार करने की हुंकार होती है....

 ऐसी ही कहानी IPS सिमाला प्रसाद की है. जिन्होंने बिना कोचिंग किये ही DSP पद का कार्यभार सँभालते हुए, केवल एक ही वर्ष में UPSC एग्जाम को पास कर, IPS बनी....

सिमाला का जन्म का मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 8 अक्टूबर 1980 को  हुआ था....

 सिमाला के पिताजी भागीरथ प्रसाद मध्य प्रदेश के से ही  IPS ऑफिसर रह चुके है  और सिमाला की माता एक साहित्यकार है....

 सिमाला मध्य प्रदेश कैडर की IPS अधिकारी हैं जो की  नक्सली क्षेत्र में अपने बेखौफनक अंदाज के लिए पहचानी जाती हैं...

इन्होने  बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएट किया फिर  'स्‍टूडेंट फॉर एक्‍सीलेंस' से बीकॉम किया...

सिमाला DSP के पोस्ट पर भी कम  कर चुकी हैं IPS  बनने से पहले इन्होने PSC का एग्जाम किलियेर करके DSP की पोस्ट ज्वाइन किया और...

 साथ में ही UPSC एग्जाम की तैयारी में लग गई और सिविल सर्विसेज 20210 के एग्जाम में सिमाला ने पहली बार में ही सफलता हासिल कर ली... 

सिमाला ने UPSC जैसे भारत के सबसे कठिन एग्जाम को पास कने के लिए किसी भी प्रकार की कोचिंग का सहारा नहीं लिया और...

सेल्फ स्टडी के दम पर ही हासिल की सफलता हासिल कर ली...

Instagram